रविवार, 15 सितंबर 2019

inverter ac means - इन्वर्टर एसी का मतलब क्या है?


आज के जमाने में एसी का घर या ऑफिस में होना लगभग आम सा हो गया हैं। जो की हमारे कमरे के वातावरण को मनचाहा तापमान देता हैं। अगर पहले की बात करे तो हमारे पास इतने ऑप्शन नहीं हुआ करते थे। लेकिन जैसे-जैसे तकनीक विकसित होता गया हमारे पास ऑप्शन चुनने की भरमार बढ़ते गए। जिसमें से एक ऑप्शन एयर कंडीशन का भी है। जब हमारे पास साधारण एसी का ऑप्शन आया तब उसके साथ बिजली के बिल भी बढ़ गया। इसी को नजर में रखते हुए अब हमारे पास एक और ऑप्शन आ गया हैं। जो है इनवर्टर एसी का जो बिजली के बिल को 30-50% तक कम कर दिया।









Buy now





साधारण एसी कैसे काम करता है?





अगर बात करें साधारण एसी का तो साधारण एसी को चलाने में काफी पैसा खर्च होता हैं। जोकि भारी बिजली की खपत करता हैं। इसी के चलते इसको इस्तेमाल करने में भी लोग सोचते है। अगर बात करें यह कैसे काम करता हैं। की बिजली की खपत इतना ज्यादा करता हैं। तो इस साधारण एसी में लगा हुआ कंप्रेसर चालू और बंद होता रहता हैं। इसलिए जब भी कंप्रेसर चालू होता हैं। तो बिजली की खपत ज्यादा होता हैं।





साधारण एसी जब चालू होता हैं। तो उसका कंप्रेसर उस समय ज्यादा बिजली खपत करता हैं। और जब कमरे में मनचाहा तापमान तक पहुंच जाता हैं। तब उसका कंप्रेसर बंद हो जाता हैं। और जब तापमान गर्म होने लगता हैं। तो वापस से कंप्रेसर चालू हो जाता हैं। जिसके चलते बिजली की भारी खपत होती हैं।





इसे भी पढ़िए:-









इनवर्टर एसी कैसे काम करता है?





वही बात करें इनवर्टर एसी की तो इनवर्टर एसी में लगा हुआ कंप्रेसर कभी भी बंद नहीं होता हैं। जिसके चलते बिजली की बचत होता हैं। और बिल भी कम हो जाता हैं।





इनवर्टर एसी को जब चालू किया जाता हैं। तब बिजली की ज्यादा खपत होता हैं। और जब इनवर्टर एसीे एक बार चालू हो जाता हैं। तब उसका कंप्रेसर कमरे के मनचाहा तापमान तक पहुंच जाने पर एक स्लो गति पर चलता रहता हैं। और जब कमरे का तापमान बढ़ता हैं। तब कंप्रेसर वापस से तेज गति में चलने लगता हैं। जिसके चलते बिजली की खपत कम होता हैं। और विल भी काम आता हैं।


4 टिप्‍पणियां: