You are here
Home > Sohar > Sohar geet lyrics: भोरही में उठली बहुरिया सासु गोड़वा लागे नी हो

Sohar geet lyrics: भोरही में उठली बहुरिया सासु गोड़वा लागे नी हो

Bhojpuri Sohar lyrics | Sohar geet in hindi lyrics | Krishn sohar in hindi lyrics | by Sarita lokgeet

भोरही में उठली बहुरिया सासु गोड़वा लागे नी हो

ए ललना एक एडा मरनी करेजवा त दूर रहूं बाझीन रे -2

भोरवे में उठली बहुरिया सासु गोड़वा लागे नी हो

ए ललना एक एडा मरली करेजवा त दूर रहूं बाझीन रे -2

सासु गोड़वा अगली ससुर गोड़वा अवरु गोतीन गोड़वा हो

ए ललना बिगडल के केहू ना सहारा त बोलिया सब बोले ले हो

ए ललना बिगडल के केहू ना सहारा त बिरहिया बोलिया बोले ले सब

बाहरे से आवेले साहेबवा धनी मुहवा ताकेले हो

ए धनी काहे बैठी मनवा हमारी सुसुकी के रोवेलु हो -2

अवध के सरजू नहायो त बचन मोरी मानहु हो

ए धनी रवि दिनवा सुरज मानायो त पुत्र तोरा होइहन हो

ए धनी रवि दिनवा सुरज मानाऊ त पूत्र तोरा दिहन हो

पुरूष बचन धनी सुनली की होरिला जन्म ले ना हो

ए ललना उठी गइले आनंद बधईया महल उठे सोहर हो

ए ललना उठी गइले आनंद बधईया महलिया उठेले सोहर न हो

Leave a Reply

Top