Vivah geet lyrics in hindi, Vivah geet lyrics in bhojpuri, Vivah geet in hindi lyrics, Vivah geet in bhojpuri lyrics, Vivah geet lyrics, Vivah geet, by Sarita lokgeet


अब ना छुपाऊँगी सबको बताऊँगी, भसुरा निकल गया डाकू इसे हंटर से मारो।(2)

टिका चढाया, तेरा चुराया, नथिया का रंग है पुराना 
इसे मंडप में  बांध। 

अब ना छुपाऊँगी सबको बताऊँगी, भसुरा निकल गया डाकू इसे हंटर से मारो।(2)

कँगना चढाया, पायल चुराया,बिछीया का रंग है पुराना इसे मंडप में  बांध। 

अब ना छुपाऊँगी सबको बताऊँगी, भसुरा निकल गया डाकू इसे हंटर से मारो।(2)

हरवा चढाया, झूमका चुराया, लंहगा का रंग है पुराना इसे मंडप में  बांध। 

अब ना छुपाऊँगी सबको बताऊँगी, भसुरा निकल गया डाकू इसे हंटर से मारो।(2)